Book A Pandit At Your Doorstep For Navratri Puja Book Now

Satyanarayan Aarti: सत्यनारायण आरती – ॐ जय लक्ष्मी रमणा

99Pandit Ji
Last Updated:November 6, 2023

Book a pandit for Satyanarayan Puja in a single click

Verified Pandit For Puja At Your Doorstep

99Pandit

सत्यनारायण आरती [Satyanarayan Aarti] भगवान विष्णु के रूप भगवान सत्यनारायण को समर्पित मानी जाती है| यदि आप घर में भगवान सत्यनारायण कथा का आयोजन करते है तो आपको कथा के पूर्ण होने के पश्चात सत्यनारायण आरती [Satyanarayan Aarti] का जाप अवश्य करना चाहिए| बिना सत्यनारायण आरती [Satyanarayan Aarti] के सत्यनारायण कथा को अधुरा माना जाता है| धार्मिक मान्यताओं के अनुसार सत्यनारायण आरती [Satyanarayan Aarti] का पूर्ण भक्ति के साथ जाप करने से जीवन की परेशानियां, संकट व दुःख दूर हो जाते है| साथ ही इस सत्यनारायण आरती [Satyanarayan Aarti] का जाप करने से घर में हमेशा ही सुख-शांति बनी रहती है|

सत्यनारायण आरती

भगवान सत्यनारायण की विशेष कृपा पाने के लिए पूर्णिमा तिथि के दिन भगवान सत्यनारायण की पूजा करने के पश्चात सत्यनारायण आरती [Satyanarayan Aarti] का गान करने से भगवान सत्यनारायण बहुत प्रसन्न होते है तथा अपने भक्तों को सुख – समृद्धि का आशीर्वाद प्रदान करते है| शास्त्रों में बताया गया है कि सत्यनारायण आरती [Satyanarayan Aarti] का जाप घर में करने से घर के वास्तु दोष दूर हो जाते है| भगवान सत्यनारायण की इस आरती को प्रतिदिन भी गाया जा सकता है लेकिन इसका भगवान सत्यनारायण पूजा के पश्चात जाप करना शुभ माना जाता है|

यदि आप ऑनलाइन किसी भी पूजा जैसे सत्यनारायण पूजा [Satyanarayan Puja], रुद्राभिषेक पूजा (Rudrabhishek Puja), महालक्ष्मी पूजा [Mahalakshmi Puja] के लिए आप हमारी वेबसाइट 99Pandit की सहायता से ऑनलाइन पंडित [Online Pandit Booking] बहुत आसानी से बुक कर सकते है| यहाँ बुकिंग प्रक्रिया बहुत ही आसान है| इसी के साथ हमसे जुड़ने के लिए आप हमारे Whatsapp Channel – “Hindu Temples, Puja and Rituals” को भी Follow कर सकते है|

सत्यनारायण आरती हिंदी में | Bhagwan Satyanarayan Aarti Lyrics In Hindi 

|| सत्यनारायण आरती ||

जय लक्ष्मी रमणा,
स्वामी जय लक्ष्मी रमणा ।
सत्यनारायण स्वामी,
जन पातक हरणा ॥

ॐ जय लक्ष्मी रमणा,
स्वामी जय लक्ष्मी रमणा ।

रत्‍‌न जड़ित सिंहासन,
अद्भुत छवि राजै ।
नारद करत निराजन,
घण्टा ध्वनि बाजै ॥

ॐ जय लक्ष्मी रमणा,
स्वामी जय लक्ष्मी रमणा ।

प्रकट भये कलि कारण,
द्विज को दर्श दियो ।
बूढ़ा ब्राह्मण बनकर,
कंचन महल कियो ॥

ॐ जय लक्ष्मी रमणा,
स्वामी जय लक्ष्मी रमणा ।

दुर्बल भील कठारो,
जिन पर कृपा करी ।
चन्द्रचूड़ एक राजा,
तिनकी विपत्ति हरी ॥

ॐ जय लक्ष्मी रमणा,
स्वामी जय लक्ष्मी रमणा ।

वैश्य मनोरथ पायो,
श्रद्धा तज दीन्ही ।
सो फल भोग्यो प्रभुजी,
फिर-स्तुति कीन्हीं ॥

ॐ जय लक्ष्मी रमणा,
स्वामी जय लक्ष्मी रमणा ।

भाव भक्ति के कारण,
छिन-छिन रूप धरयो ।
श्रद्धा धारण कीन्हीं,
तिनको काज सरयो ॥

ॐ जय लक्ष्मी रमणा,
स्वामी जय लक्ष्मी रमणा ।

ग्वाल-बाल संग राजा,
वन में भक्ति करी ।
मनवांछित फल दीन्हों,
दीनदयाल हरी ॥

ॐ जय लक्ष्मी रमणा,
स्वामी जय लक्ष्मी रमणा ।

चढ़त प्रसाद सवायो,
कदली फल, मेवा ।
धूप दीप तुलसी से,
राजी सत्यदेवा ॥

ॐ जय लक्ष्मी रमणा,
स्वामी जय लक्ष्मी रमणा ।

श्री सत्यनारायण जी की आरती,
जो कोई नर गावै ।
ऋद्धि-सिद्ध सुख-संपत्ति,
सहज रूप पावे ॥

जय लक्ष्मी रमणा,
स्वामी जय लक्ष्मी रमणा ।
सत्यनारायण स्वामी,
जन पातक हरणा ॥

सत्यनारायण आरती

Satyanarayan Aarti Lyrics In English |  Om Jai Lakshmi Ramna

|| Satyanarayan Aarti ||

Jai Lakshmi Ramna,
Swami Jai Lakshmi Ramna |
Satyanarayan Swami,
Jan Paatak Harana ||

Om Jai Lakshmi Ramna,
Swami Jai Lakshmi Ramna |

Ratna Jadit Singhasan,
Adbhut Chhavi Raaje |
Naarad Karat Nirajan,
Ghanta Dhwani Baaje ||

Om Jai Lakshmi Ramna,
Swami Jai Lakshmi Ramna |

Prakat Bhaye Kali Kaaran,
Dwij Ko Darsh Diyo |
Budha Brahman Bankar,
Kanchan Mahal Kiyo ||

Om Jai Lakshmi Ramna,
Swami Jai Lakshmi Ramna |

Durbal Bheel Kathaaro,
Jin Par Kripa Kari |
Chandrachud Ek Raja,
Tinki Vipatti Hari ||

Om Jai Lakshmi Ramna,
Swami Jai Lakshmi Ramna |

Vaishya Manorath Paayo,
Shraddha Taj Dinhi |
Sau Phal Bhogyo Prabhuji,
Phir- Stuti Kinhi ||

Om Jai Lakshmi Ramna,
Swami Jai Lakshmi Ramna |

Bhaav Bhakti Ke Kaaran,
Chhin-Chhin Roop Dharayo |
Shraddha Dhaaran Kinhi,
Tinko Kaaj Sarayo ||

Om Jai Lakshmi Ramna,
Swami Jai Lakshmi Ramna |

Gwal-Bal Sang Raja,
Van Me Bhakti Kari |
Manvanchhit Phal Dinho,
Deendayal Hari ||

Om Jai Lakshmi Ramna,
Swami Jai Lakshmi Ramna |

Chadhat Prasad Savayo,
Kadali Phal, Meva |
Dhup Deep Tulsi Se,
Raaji Satyadeva ||

Om Jai Lakshmi Ramana,
Swami Jai Lakshmi Ramana.

Shri Satyanarayan Ji Ki Aarti,
Jo Koi Nar Gaave.
Riddhi-Siddh Sukh-Sampatti,
Sahaj Roop Paave.

Jai Lakshmi Ramana,
Swami Jai Lakshmi Ramana.
Satyanarayan Swami,
Jan Paatak Harana

99Pandit

100% FREE CALL TO DECIDE DATE(MUHURAT)

99Pandit
Book A Astrologer