Book A Pandit At Your Doorstep For Marriage Puja Book Now

Shri Brihaspati Dev Ji Ki Aarti : बृहस्पति देव आरती

99Pandit Ji
Last Updated:November 22, 2023

Book a pandit for Any Puja in a single click

Verified Pandit For Puja At Your Doorstep

99Pandit
Table Of Content

बृहस्पति देव आरती का जाप भगवान बृहस्पति को प्रसन्न करने के लिए किया जाता है| हिन्दू धर्म की मान्यताओं के अनुसार भगवान बृहस्पति को सभी देवताओं का गुरु माना जाता है| बृहस्पति भगवान की पूजा करने तथा बृहस्पति देव आरती के लिए सबसे शुभ दिन गुरूवार माना जाता है| कहा जाता है कि जो भी भक्त गुरूवार के दिन भगवान बृहस्पति की पूजा या बृहस्पति देव आरती का जाप करता है| उसके सभी कष्ट दूर हो जाते है| गुरूवार के दिन व्रत करते समय बृहस्पति देव आरती करने का विधान माना जाता है|

बृहस्पति देव आरती

इसके आलवा यदि आप ऑनलाइन किसी भी पूजा जैसे गृह प्रवेश पूजा (Griha Pravesh Puja), रुद्राभिषेक पूजा (Rudrabhishek Puja), तथा ऑफिस उद्घाटन पूजा (Office Opening Puja) के लिए आप हमारी वेबसाइट 99Pandit की सहायता से ऑनलाइन पंडित बहुत आसानी से बुक कर सकते है| इसी के साथ हमसे जुड़ने के लिए आप हमारे Whatsapp Channel – “Hindu Temples, Puja and Rituals” को भी Follow कर सकते है|

बृहस्पति देव जी की आरती | Brihaspati Dev Aarti Lyrics In Hindi

|| बृहस्पति देव आरती ||

जय बृहस्पति देवा,
ऊँ जय बृहस्पति देवा ।
छिन छिन भोग लगा‌ऊँ,
कदली फल मेवा ॥

ऊँ जय बृहस्पति देवा,
जय बृहस्पति देवा ॥

तुम पूरण परमात्मा,
तुम अन्तर्यामी ।
जगतपिता जगदीश्वर,
तुम सबके स्वामी ॥

ऊँ जय बृहस्पति देवा,
जय बृहस्पति देवा ॥

चरणामृत निज निर्मल,
सब पातक हर्ता ।
सकल मनोरथ दायक,
कृपा करो भर्ता ॥

ऊँ जय बृहस्पति देवा,
जय बृहस्पति देवा ॥

तन, मन, धन अर्पण कर,
जो जन शरण पड़े ।
प्रभु प्रकट तब होकर,
आकर द्घार खड़े ॥

ऊँ जय बृहस्पति देवा,
जय बृहस्पति देवा ॥

दीनदयाल दयानिधि,
भक्तन हितकारी ।
पाप दोष सब हर्ता,
भव बंधन हारी ॥

ऊँ जय बृहस्पति देवा,
जय बृहस्पति देवा ॥

सकल मनोरथ दायक,
सब संशय हारो ।
विषय विकार मिटा‌ओ,
संतन सुखकारी ॥

ऊँ जय बृहस्पति देवा,
जय बृहस्पति देवा ॥

जो को‌ई आरती तेरी,
प्रेम सहित गावे ।
जेठानन्द आनन्दकर,
सो निश्चय पावे ॥

ऊँ जय बृहस्पति देवा,
जय बृहस्पति देवा ॥

सब बोलो विष्णु भगवान की जय ।
बोलो बृहस्पति देव भगवान की जय ॥

बृहस्पति देव आरती

Brihaspati Dev Aarti Lyrics In English | ऊँ जय बृहस्पति देवा

|| Brihaspati Dev Aarti ||

Jai Brihaspati Deva,
Om Jai Brihaspati Deva.
Chin chin Bhog Lagaun,
Kadali phal meva.

Om Jai Brihaspati Deva,
Jai Brihaspati Deva.

Tum Poorn Paramatma,
Tum Antaryaami.
Jagatpita Jagadishwar,
Tum sabke swami.

Om Jai Brihaspati Deva,
Jai Brihaspati Deva.

Charanamrit nij nirmal,
Sab paatak harta.
Sakal manorath daayak,
Kripa karo bharta.

Om Jai Brihaspati Deva,
Jai Brihaspati Deva.

Tan, man, dhan arpan kar,
Jo jan sharan pade.
Prabhu prakat tab hokar,
Aakar dhaar khade.

Om Jai Brihaspati Deva,
Jai Brihaspati Deva.

Deendayal dayanidhi,
Bhaktan hitkari.
Paap dosh sab harta,
Bhav bandhan haari.

Om Jai Brihaspati Deva,
Jai Brihaspati Deva.

Sakal manorath daayak,
Sab Sanshay Haaro.
Vishay vikaar mitao,
Santan sukhakari.

Om Jai Brihaspati Deva,
Jai Brihaspati Deva.

Jo koi aarti teri,
Prem sahit gaave.
Jethanand aanandkar,
So nishchay paave.

Om Jai Brihaspati Deva,
Jai Brihaspati Deva.

Sab bolo Vishnu Bhagwan ki Jai.
Bolo Brihaspati Dev Bhagwan ki Jai.

99Pandit

100% FREE CALL TO DECIDE DATE(MUHURAT)

99Pandit
Book A Pandit
Book A Astrologer