Book A Pandit At Your Doorstep For Marriage Puja Book Now

Sita Mata Aarti Lyrics : सीता माता आरती

99Pandit Ji
Last Updated:December 5, 2023

Book a pandit for Any Puja in a single click

Verified Pandit For Puja At Your Doorstep

99Pandit
Table Of Content

सीता माता आरती का जाप माता जानकी की कृपा पाने तथा उन्हें प्रसन्न करने के लिए किया जाता है| माना जाता है कि जानकी माता की पूर्ण श्रद्धा से पूजा – अर्चना करने से सीता माता की अपार कृपा प्राप्त होती है| सीता माता की पूजा करते समय सीता माता आरती का जप करना बहुत ही आवश्यक माना जाता है| बिना आरती का जाप किये सीता माता की पूजा भी अधूरी मानी जाती है| हिन्दू धर्म में सीता माता को भगवान श्री राम जी धर्मपत्नी के रूप में जाना जाता है|

सीता माता आरती

इसके आलवा यदि आप ऑनलाइन किसी भी पूजा जैसे गृह प्रवेश पूजा (Griha Pravesh Puja), रुद्राभिषेक पूजा (Rudrabhishek Puja), तथा ऑफिस उद्घाटन पूजा (Office Opening Puja) के लिए आप हमारी वेबसाइट 99Pandit की सहायता से ऑनलाइन पंडित बहुत आसानी से बुक कर सकते है| इसी के साथ हमसे जुड़ने के लिए आप हमारे Whatsapp Channel – “Hindu Temples, Puja and Rituals” को भी Follow कर सकते है

सीता माता जी की आरती | Sita Mata Aarti Lyrics In Hindi

|| सीता माता आरती ||

आरती श्री जनक दुलारी की ।
सीता जी रघुवर प्यारी की ॥

जगत जननी जग की विस्तारिणी,
नित्य सत्य साकेत विहारिणी,
परम दयामयी दिनोधारिणी,
सीता मैया भक्तन हितकारी की ॥

आरती श्री जनक दुलारी की ।
सीता जी रघुवर प्यारी की ॥

सती श्रोमणि पति हित कारिणी,
पति सेवा वित्त वन वन चारिणी,
पति हित पति वियोग स्वीकारिणी,
त्याग धर्म मूर्ति धरी की ॥

आरती श्री जनक दुलारी की ।
सीता जी रघुवर प्यारी की ॥

विमल कीर्ति सब लोकन छाई,
नाम लेत पवन मति आई,
सुमीरात काटत कष्ट दुख दाई,
शरणागत जन भय हरी की ॥

आरती श्री जनक दुलारी की ।
सीता जी रघुवर प्यारी की ॥

सीता माता आरती

Sita Mata Aarti Lyrics In English | आरती श्री जनक दुलारी की

|| Sita Mata Aarti ||

Aarti Shri Janak Dulari Ki,
Sita Ji Raghuvar Pyari Ki.

Jagat Janani Jag Ki Vistarin,
Nitya Satya Saaket Vihaarini,
Param Dayamayi Dinodharini,
Sita Maiya Bhakton Hitkaari Ki.

Aarti Shri Janak Dulari Ki,
Sita Ji Raghuvar Pyari Ki.

Sati Shromani Pati Hit Kaarini,
Pati Seva Vitta Van Charini,
Pati Hit Pati Viyog Sveekaarini,
Tyag Dharma Moorti Dhari Ki.

Aarti Shri Janak Dulari Ki,
Sita Ji Raghuvar Pyari Ki.

Vimal Kirti Sab Lokan Chhaai,
Naam Let Pavan Mati Aayi,
Sumirat Kaatat Kasht Dukh Daai,
Sharanagat Jan Bhay Hari Ki.

Aarti Shri Janak Dulari Ki,
Sita Ji Raghuvar Pyari Ki.

99Pandit

100% FREE CALL TO DECIDE DATE(MUHURAT)

99Pandit
Book A Pandit
Book A Astrologer