Order Your Puja Samagri And Get 99Pandit Puja50% Discount Shop Now

Vishwakarma Ji Ki Aarti : विश्वकर्मा जी की आरती

99Pandit Ji
Last Updated:November 28, 2023

विश्वकर्मा जी की आरती [Vishwakarma Ji Ki Aarti] भगवान विश्वकर्मा जी की पूजा करने के बाद गाई जाती है| हिन्दू धर्म की मान्यताओं के अनुसार माना जाता है कि रावण की लंका, पांडवों की इंद्रप्रस्थ नगरी, भगवान श्री कृष्ण की द्वारका नगरी तथा हस्तिनापुर नगरी का निर्माण भगवान विश्वकर्मा जी के द्वारा ही किया गया था| भगवान विश्वकर्मा जी की पूजा इस पृथ्वी पर सृष्टि के सृजन कर्ता के रूप में की जाती है| भगवान विश्वकर्मा जी की पूजा करने के बाद विश्वकर्मा जी की आरती [Vishwakarma Ji Ki Aarti] अवश्य रूप से की जाती है| बिना आरती के विश्वकर्मा जी की पूजा अधूरी मानी जाती है|

विश्वकर्मा जी की आरती

जांगिड ब्राह्मण समाज के लोग विश्वकर्मा भगवान को बहुत मानते है तथा इनकी पूजा करते है| विश्वकर्मा जी की आरती [Vishwakarma Ji Ki Aarti] का जाप करने से आपके व्यवसाय में बढ़ोतरी होगी| सर्वाधिक कारखानों व बड़े – बड़े उद्योगों वाले व्यक्ति भगवान विश्वकर्मा जी की आरती [Vishwakarma Ji Ki Aarti] तथा उनकी पूजा करते है| विश्वकर्मा जी आरती का जप करने भगवान विश्वकर्मा प्रसन्न होते है, जिन्हें इस सम्पूर्ण सृष्टि का पहला वास्तुकार माना जाता है|

यदि आप ऑनलाइन किसी भी पूजा जैसे धनतेरस पूजा (Dhanteras Puja), रुद्राभिषेक पूजा (Rudrabhishek Puja), गोवर्धन पूजा (Govardhan Puja) के लिए आप हमारी वेबसाइट 99Pandit  की सहायता से ऑनलाइन पंडित बहुत आसानी से बुक कर सकते है| यहाँ बुकिंग प्रक्रिया बहुत ही आसान है| बस आपको “बुक ए पंडित” [Book A Pandit] विकल्प का चुनाव करना होगा और अपनी सामान्य जानकारी जैसे कि अपना नाम, मेल, पूजा स्थान, समय,और पूजा का चयन के माध्यम से आप अपना पंडित बुक कर सकेंगे|

इसी के साथ हमसे जुड़ने के लिए आप हमारे Whatsapp Channel – “Hindu Temples, Puja and Rituals” को भी Follow कर सकते है|

विश्वकर्मा जी की आरती | Vishwakarma Ji Ki Aarti Lyrics In Hindi

|| विश्वकर्मा जी की आरती ||

जय श्री विश्वकर्मा प्रभु,
जय श्री विश्वकर्मा ।
सकल सृष्टि के करता,
रक्षक स्तुति धर्मा ॥

जय श्री विश्वकर्मा प्रभु,
जय श्री विश्वकर्मा ।

आदि सृष्टि मे विधि को,
श्रुति उपदेश दिया ।
जीव मात्र का जग में,
ज्ञान विकास किया ॥

जय श्री विश्वकर्मा प्रभु,
जय श्री विश्वकर्मा ।

ऋषि अंगीरा तप से,
शांति नहीं पाई ।
ध्यान किया जब प्रभु का,
सकल सिद्धि आई ॥

जय श्री विश्वकर्मा प्रभु,
जय श्री विश्वकर्मा ।

रोग ग्रस्त राजा ने,
जब आश्रय लीना ।
संकट मोचन बनकर,
दूर दुःखा कीना ॥

जय श्री विश्वकर्मा प्रभु,
जय श्री विश्वकर्मा।

जब रथकार दंपति,
तुम्हारी टेर करी ।
सुनकर दीन प्रार्थना,
विपत सगरी हरी ॥

जय श्री विश्वकर्मा प्रभु,
जय श्री विश्वकर्मा।

एकानन चतुरानन,
पंचानन राजे।
त्रिभुज चतुर्भुज दशभुज,
सकल रूप साजे ॥

जय श्री विश्वकर्मा प्रभु,
जय श्री विश्वकर्मा।

ध्यान धरे तब पद का,
सकल सिद्धि आवे ।
मन द्विविधा मिट जावे,
अटल शक्ति पावे ॥

जय श्री विश्वकर्मा प्रभु,
जय श्री विश्वकर्मा।

श्री विश्वकर्मा की आरती,
जो कोई गावे ।
भजत गजानांद स्वामी,
सुख संपति पावे ॥

जय श्री विश्वकर्मा प्रभु,
जय श्री विश्वकर्मा।
सकल सृष्टि के करता,
रक्षक स्तुति धर्मा ॥

विश्वकर्मा जी की आरती

Vishwakarma Ji Ki Aarti Lyrics In English | Jai Shree Vishwakarma Prabhu

|| Vishwakarma Ji Ki Aarti ||

Jai Shri Vishwakarma Prabhu,
Jai Shri Vishwakarma.
Sakal srishti ke karta,
Rakshak stuti dharma.

Jai Shri Vishwakarma Prabhu,
Jai Shri Vishwakarma.

Aadi srishti mein vidhi ko,
Shruti Updesh diya.
Jeev maatra ka jag mein,
Gyaan vikas kiya.

Jai Shri Vishwakarma Prabhu,
Jai Shri Vishwakarma.

Rishi Angira tap se,
Shaanti nahin paayi.
Dhyaan kiya jab Prabhu ka,
Sakal siddhi aayi.

Jai Shri Vishwakarma Prabhu,
Jai Shri Vishwakarma.

Rog Grasht raja ne,
Jab aashray liya.
Sankat mochan bankar,
Door dukhaa kina.

Jai Shri Vishwakarma Prabhu,
Jai Shri Vishwakarma.

Jab rathakar dampati,
Tumhaari ter kari.
Sunkar deen prarthana,
Vipat sagari hari.

Jai Shri Vishwakarma Prabhu,
Jai Shri Vishwakarma.

Ekaanan chaturaanan,
Panchanan raaje.
Tribhuj Chaturbhuj dashabhuj,
Sakal roop saaje.

Jai Shri Vishwakarma Prabhu,
Jai Shri Vishwakarma.

Dhyaan dhare tab pad ka,
Sakal siddhi aave.
Man dvividha mit jaave,
Atal shakti paave.

Jai Shri Vishwakarma Prabhu,
Jai Shri Vishwakarma.

Shri Vishwakarma ki aarti,
Jo koi gaave.
Bhajat Gajaanand Swami,
Sukh sampati paave.

Jai Shri Vishwakarma Prabhu,
Jai Shri Vishwakarma.
Sakal srishti ke karta,
Rakshak stuti dharma

99Pandit

100% FREE CALL TO DECIDE DATE(MUHURAT)

99Pandit
Book A Astrologer