Book A Pandit At Your Doorstep For Navratri Puja Book Now

Shakumbhari Amba Ji Ki Aarti Kijo Lyrics: शाकुम्भरी माता की आरती

99Pandit Ji
Last Updated:February 15, 2024

Book a pandit for Any Puja in a single click

Verified Pandit For Puja At Your Doorstep

99Pandit

शाकुम्भरी माता की आरती (Shakumbhari Mata Ki Aarti) का जाप माता शाकुम्भरी का आशीर्वाद पाने तथा उन्हें प्रसन्न करने के लिए किया जाता है| माता शाकुम्भरी को देवी दुर्गा का ही रूप माना जाता है| इसलिए शाकुम्भरी देवी की पूजा नवरात्रि के समय करना बहुत लाभदायक माना जाता है| शाकुम्भरी देवी की पूजा के साथ-साथ शाकुम्भरी माता की आरती (Shakumbhari Mata Ki Aarti) का जाप करना भी जातकों के लिए बहुत शुभ होता है| कहा जाता है कि जो भी भक्त शाकुम्भरी माता की आरती (Shakumbhari Mata Ki Aarti) का जाप करते लोगों की सभी परेशानियां दूर होती है तथा उन्हें माता शाकुम्भरी की कृपा भी प्राप्त होती है तो आइये पढ़ते है शाकुम्भरी माता की आरती (Shakumbhari Mata Ki Aarti)|

शाकुम्भरी माता की आरती

इसी के साथ यदि आप किसी भी आरती या चालीसा जैसे हनुमान चालीसा [Hanuman Chalisa], खाटूश्याम जी की आरती [Khatu Shyam Ji Ki Aarti], या जया एकादशी व्रत कथा [Jaya Ekadashi Vrat Katha] आदि भिन्न-भिन्न प्रकार की आरतियाँ, चालीसा व व्रत कथा पढना चाहते है तो आप हमारी वेबसाइट 99Pandit पर विजिट कर सकते है| इसके अलावा आप हमारे एप 99Pandit For Users पर भी आरतियाँ व अन्य कथाओं को पढ़ सकते है| इस एप में सम्पूर्ण भगवद गीता के अध्यायों को हिंदी अर्थ सहित समझाया गया है|

शाकुम्भरी देवी की आरती लिरिक्स हिंदी में | Shakumbhari Mata Ki Aarti Lyrics in Hindi

|| शाकुम्भरी माता की आरती ||

हरि ओम श्री शाकुम्भरी अंबा जी की आरती क़ीजो
एसी अद्वभुत रूप हृदय धर लीजो

शताक्षी दयालू की आरती किजो
तुम परिपूर्ण आदि भवानी माँ,

सब घट तुम आप भखनी माँ
शकुंभारी अंबा जी की आरती किजो

तुम्ही हो शाकुम्भर,
तुम ही हो सताक्षी माँ

शिवमूर्ति माया प्रकाशी माँ
शाकुम्भरी अंबा जी की आरती किजो

नित जो नर नारी अंबे आरती गावे माँ
इच्छा पूरण किजो,

शाकुम्भर दर्शन पावे माँ
शाकुम्भरी अंबा जी की आरती किजो

जो नर आरती पढ़े पढ़ावे माँ,
जो नर आरती सुनावे माँ

बस बैकुण्ठ शाकुम्भर दर्शन पावे
शाकुम्भरी अंबा जी की आरती किजो

शाकुम्भरी माता की आरती

Shakumbhari Mata Ki Aarti Lyrics in English | शाकुम्भरी अंबा जी की आरती किजो

|| Shakumbhari Mata Ki Aarti ||

Hari Om Shri Shakumbhari Amba Ji ki aarti kijiye,
Aisi adbhut roop hriday dhar lijiye.

Shatakshi Dayalu ki aarti kijiye,
Tum paripurna Adi Bhawani Maa,

Sab ghat tum aap bhakni Maa,
Shakumbhari Amba Ji ki aarti kijiye.

Tum hi ho Shakumbhar,
Tum hi ho Shatakshi Maa.

Shivamurti Maya Prakashi Maa,
Shakumbhari Amba Ji ki aarti kijiye.

Nit jo nar nari Ambe aarti gaave Maa,
Ichha puran kijiye,

Shakumbhar darshan paave Maa,
Shakumbhari Amba Ji ki aarti kijiye.

Jo nar aarti padhe padhave Maa,
Jo nar aarti sunaave Maa.

Bas Vaikunth Shakumbhar darshan paave,
Shakumbhari Amba Ji ki aarti kijiye.

99Pandit

100% FREE CALL TO DECIDE DATE(MUHURAT)

99Pandit
Book A Astrologer