Book A Pandit At Your Doorstep For Navratri Puja Book Now

Bhoomi Pujan Samagri | भूमि पूजन सामग्री की सम्पूर्ण सूची

99Pandit Ji
Last Updated:August 3, 2023

Book a pandit for Bhoomi Puja in a single click

Verified Pandit For Puja At Your Doorstep

99Pandit

भूमि पूजन सामग्री की आवश्यकता भूमि पूजन जैसे धार्मिक कार्य के निर्वाह में एक महत्वपूर्ण अंग है। इसमें प्रयुक्त होने वाली सामग्री भूमि पूजन के आयोजन में उपयोग की जाती है और भूमि की प्राकृतिक शक्तियों का सम्मान करने में मदद करती है। 

भूमि पूजन एक पवित्र और सामर्थ्यपूर्ण अवसर है जो हमें भूमि की महिमा को समझने और सम्मान करने का अवसर देता है। यह हमें हमारी प्राकृतिक पर्यावरण का संरक्षण करने की महत्वपूर्णता को समझाता है और हमें धरा की आशीर्वाद प्राप्त करने के लिए आह्वान करता है। भूमि पूजन के माध्यम से हम समृद्धि, सुरक्षा, और खुशहाली की प्राप्ति का आश्वासन प्राप्त करते हैं।

भूमि पूजन सामग्री

भूमि पूजन जैसे पवित्र कार्य को सम्पन्न करवाने के लिए 99पंडित की टीम हमेशा तत्पर रहती है | हम 99पंडित आपको भूमि पूजन का वास्तविक अनुभव प्रदान करते है साथ में यह भी ध्यान में रखते है की इसमें प्रयुक्त होने वाली भूमि पूजन सामग्री का यजमान को ज्ञान हो ताकि इस शुभ कार्य में किसी प्रकार का व्यवधान न आये | क्यों की अधिकांश लोगो को भूमि पूजन के बारे में सही जानकारी का आभाव होता है | 

इस ब्लॉग के पीछे हमरा यानि 99पंडित का उद्देश्य आपको भूमि पूजन सामग्री का प्रयोग, इसका महत्व समझना, आपको इसके विधि- विधान का ज्ञान करवाना है| 

99pandit

100% FREE CALL TO DECIDE DATE(MUHURAT)

99pandit

आगे हम हमारे भगतों को भूमि पूजन सामग्री  के बारे में बताते है की हमें भूमि पूजन के लिए  कौन – कौनसी सामग्री चाहिए होगी |  हम आपकी सुविधा के हिसाब से यहाँ भूमि पूजन में प्रयोग होने वाली सामग्री को सूचीबद्ध कर रहे है | ताकि आपको समग्रः जानकारी मिल सकें | चलो, सूचि का अवलोकन कर लेते है | 

सामग्री मात्रा
रोली 1 पैकेट 
कलावा (मौली)  2 गोला 
सिन्दूर 1 पैकेट 
लौंग1 पैकेट 
इलायची 1 पैकेट 
सुपारी 1 पैकेट 
गरिगोला 2  नग 
अबीर 1 पैकेट 
गुलाल  1 पैकेट 
शहद 1 शीशी 
इत्र1 शीशी 
हल्दी1 पैकेट 
गंगाजल1 बोतल 
गुलाबजल1 बोतल 
लाल कपडा आधा मीटर 
पीला कपडा सवा मीटर 
जनेऊ 7 नग 
सर्वोषधि 1 पैकेट 
सप्तमूर्तिका 1 पैकेट 
सप्तधान्य1 पैकेट 
पंचरत्न1 पैकेट
कपूर 100 ग्राम 
गाय का घृत 500 ग्राम 
पिली सरसो 200 ग्राम 
धूपबत्ती 1 पैकेट
रूईबत्ती 1 पैकेट
दोना 1 पैकेट
माचिस 1 नग 
कलश मिटटी का 1 नग 
सकोरा 5 नग 
दियाळी 15 नग 
पञ्चमेवा 100 ग्राम 
वास्तुयंत्र 1 नग 
ताम्र कलश (छोटा सा ढक्कन सहित ) 
पानी वाला नारियल 5 नग 
नवग्रह चावल 1 पैकेट 
नवग्रह समिधा 1 पैकेट 
आम  की समिधा 2 किलो 
हवन सामग्री 500 ग्राम 
खैर की लकड़ी 4 नग 
चावल 250 ग्राम 
नाग एवं नागिन का जोड़ा चांदी के 
कछवा 
मछली 
शंख एवं चक्र 
लकड़ी की चौकी 1 नग 
नवीन ईंट 5 नग 
फल आवश्यकतानुसार 
मिष्ठान आवश्यकतानुसार 
पान के पत्ते 11 नग 
फूलमाला (छोटे एवं बड़े )5 नग 
खुले फूल 500 ग्राम 
पञ्चामृत घर से तैयार करके लाये   
आम का पल्लव 1 नग 
बालू,  मोरंग , सीमेंट आदि की व्यवस्था 

भूमि पूजन सामग्री विवरण

शेष घर से लाने वाली भूमि पूजन सामग्री निम्न प्रकार से है:-  

बैठने हेतु दरी व चद्दर की व्यवस्था , पिने के लिए व् पूजा के लिए जल की व्यवस्था, छोटा अखण्ड दीपक ढक्कन वाला | इसके अलावा थाली 4, प्लेट 2, लोटा 1, चम्मच , व चाकू  की व्यवस्था भी सुनिश्चित कर  ले |  

भूमि पूजन: भूमि की महिमा और महत्व 

भारतीय संस्कृति में धरती और भूमि की महिमा अत्यंत महत्वपूर्ण है। हमारे पूर्वजों ने अपने जीवन में धरा को देवी और भगवान की रूप में पूजा करने का मार्ग चुना है। यह प्रथा हमारी संस्कृति और परंपराओं का महत्वपूर्ण हिस्सा है। इसी प्रकार, भूमि पूजन एक ऐसा पवित्र और सामर्थ्यपूर्ण अवसर है जो भूमि की प्राकृतिक शक्ति के आदर्शों को गर्व के साथ मान्यता देता है। 

भूमि पूजन का महत्व

भूमि पूजन भूमि की प्राकृतिक शक्तियों को प्रशस्त करने और ईश्वर का आशीर्वाद प्राप्त करने का एक महत्वपूर्ण अवसर है। इसका महत्व निम्नलिखित है:

भूमि की प्राकृतिक शक्तियों का सम्मान

भूमि पूजन भूमि की प्राकृतिक शक्तियों का सम्मान करता है और उन्हें आशीर्वाद देने का मार्ग प्रदान करता है।

नई निर्माण की सफलता

भूमि पूजन नए भवन, मकान, कार्यालय या किसी अन्य नगरिक योजना के निर्माण में सफलता की प्राप्ति में मदद करता है।

99pandit

100% FREE CALL TO DECIDE DATE(MUHURAT)

99pandit

भूमि की सुरक्षा और अभिवृद्धि

भूमि पूजन से भूमि की सुरक्षा और अभिवृद्धि होती है और इसके आशीर्वाद से समृद्धि और सम्पन्नता की प्राप्ति होती है।

भूमि पूजन विधि

भूमि पूजा एक विधि है जिसमें भूमि की प्राकृतिक शक्तियों का आदर्शोपासना किया जाता है। इस पूजा को आमतौर पर नए भवन, मकान, कार्यालय, उद्यान या किसी अन्य नगरिक योजना के निर्माण के पहले किया जाता है। यह पूजा उचित मुहूर्त में पंडित जी या ब्राह्मण द्वारा संपन्न की जाती है। इसमें निम्नलिखित चरणों का पालन किया जाता है:

पूजा का आरंभ

पूजा की शुरुआत में पंडित या ब्राह्मण उचित मंत्रों का उच्चारण करके पूजा का आरंभ करते हैं।

कलश स्थापना

भूमि पूजा में कलश स्थापित किया जाता है। कलश में शुद्ध जल, सुपारी, कच्चा सूत, गंगा जल, हल्दी, कुमकुम, नारियल, फूल और सिक्के रखे जाते हैं। भूमि पूजन सामग्री का चयन आप पंडित जी से विचार विमर्श से कर सकते है | 

मंगलमय ध्वज स्थापना

भूमि पूजा में ध्वज स्थापित किया जाता है, जिसे मंगलमय ध्वज के रूप में जाना जाता है। ध्वज को विशेष मंत्रों के साथ उठाया जाता है।

अक्षत और फूलों का आभार

इसके बाद, पंडित या ब्राह्मण को अक्षत और फूलों के साथ धन्यवाद दिया जाता है, जो ईश्वर के आशीर्वाद की प्रतीक्षा करते हैं।

मंत्रों का उच्चारण

इसके बाद, पंडित या ब्राह्मण द्वारा भूमि की प्राकृतिक शक्तियों का उच्चारण किया जाता है। मंत्रों के माध्यम से भूमि का आदर्शोपासना की जाती है और ईश्वर से भूमि की सुरक्षा और आशीर्वाद की प्रार्थना की जाती है। भूमि पूजन मंत्र

ॐ अपवित्रः पवित्रो वा सर्वावस्थां गतोऽपि वा । यः स्मरेत् पुण्डरीकाक्षं स बाह्याभ्यन्तरः शुचिः ॥ ॐ पुण्डरीकाक्षः पुनातु । ॐ पुण्डरीकाक्षः पुनातु ।

प्रसाद वितरण

अंतिम चरण में, पूजा का प्रसाद वितरित किया जाता है, जिसे उपस्थित सभी लोग खाते हैं।

भूमि पूजन क्यों करवाना चाहिए 

यहाँ हम आपको बता रहे है की क्यों हमारे लिए भूमि पूजन आवश्यक  है :

धर्मिक महत्व

भूमि पूजन धार्मिक और सामाजिक महत्वपूर्ण है, और यह हमें हमारे धर्म और संस्कृति को समझने का मौका देता है।

भूमि की सुरक्षा

भूमि पूजन के द्वारा भूमि की सुरक्षा और अभिवृद्धि होती है, और इससे किसी अनुष्ठान की सफलता की संभावना बढ़ती है।

शांति और समृद्धि

भूमि पूजन से शांति, समृद्धि और खुशहाली की प्राप्ति होती है।

कार्य की सफलता

नए निर्माण के पहले भूमि पूजन करने से कार्य की सफलता में वृद्धि होती है और नए परियोजनाओं के लिए शुभारंभ का संकेत मिलता है।

भूमि की शुद्धि

भूमि पूजन करने से भूमि की शुद्धि होती है और उसमें नकारात्मक ऊर्जा का समापन होता है।

इसके अतिरिक्त भूमि पूजन एक पवित्र और सामर्थ्यपूर्ण अवसर है जो हमें भूमि की महिमा को समझने और सम्मान करने का अवसर देता है। यह हमें हमारी प्राकृतिक पर्यावरण का संरक्षण करने की महत्वपूर्णता को समझाता है और हमें धरा की आशीर्वाद प्राप्त करने के लिए आह्वान करता है। 

भूमि पूजन के लिए बेस्ट पंडित सेवा कौनसी  है ?

मार्केट की बात करे तो मार्केट में बहुत से पंडित सेवाएं कम्पनियां हमें बेहतरीन पंडित सर्विस का दिखावा करती है जब हम एक बार उन पर आँख बंद करके भरोसा कर लेते है तो वे बाद में अपना असली रूप हमें दिखती है , जैसे यजमान से मनचाही पैसा वसूली, समय पर कार्यकर्म को सम्पन्न न करवाना, पंडित का महूर्त समय के बाद में आना आदि | 

99pandit

100% FREE CALL TO DECIDE DATE(MUHURAT)

99pandit

हमारा यानि 99Pandit  की टीम ने मिलकर भगतों के इस लाचारी को समझते हुए, पंडित बुकिंग पोर्टल की शुरुवात की जिससे की इस घोर कलयुग में हवन,यज्ञ,शुभ- अशुभ, जैसे धर्मिक अनुष्ठान जो आदिकाल से हमारी हिन्दू धर्म की परम्परा में चले आ रहे है उनमे कोई विघन न आये | और इसका सम्पूर्ण लाभ मनुष्य जाति को मिल सकें | यही हमारा उद्देश्य है | 

99Pandit आपको इस समस्या से निकलने का पूरा प्रयास करते है, साथ ही आपको इस पूजन का वास्तविक अनुभव भी प्रदान करते है | 

आप 99Pandit के आधिकारिक पोर्टल के माध्यम से भी प्रत्यक्ष (direct) अपना पंडित आसानी से बुक कर  सकते है | इसके आलावा आप हमें 8005663275 पर व्हाट्सएप्प द्वारा भी पंडित बुकिंग व भूमि पूजन सामग्री से संबंधित जानकारी ले सकते है | 

निष्कर्ष 

भूमि पूजन जैसी पवित्र धार्मिक परम्परा के लिए भूमि पूजन सामग्री पूर्ण रूप से शुद्ध व पवित्र हो यह हमारा 99पंडित का प्रयास रहता है | इसके आलावा आप किसी भी कुम्भ विवाह पूजन, श्रीमद भागवत पुराण, विवाह पूजन , में प्रकट होने वाली सामग्री के बारे में 99पंडित के blog विकल्प से जानकारी ले सकते है |

99Pandit

100% FREE CALL TO DECIDE DATE(MUHURAT)

99Pandit
Book A Astrologer